Acidityबनना है Heart Attack का पहला लक्षण, इन वजहों से रहें दूर, तुरंत मानें डॉ. की ये बातें

Heart Attack

Acidity बनना है Heart Attack का पहला लक्षण, इन वजहों से रहें दूर, तुरंत मानें डॉ. की ये बातें

श्रेयस तलपड़े और Heart Attack: एक चेतावनी

हाल ही में फिट रहने वाले एक्टर श्रेयस तलपड़े को हार्ट अटैक आ गया, जिससे हम सभी ने एक बार फिर देखा कि Heart Attack किसी को भी हो सकता है, चाहे वह कितना भी फिट क्यों ना हो। उनकी इस घड़ी ने हमें सबको यह याद दिलाया है कि सेहत का ध्यान रखना हम सभी के लिए जरूरी है।

Heart Attack के मामले बढ़ रहे हैं: युवाओं का भी खतरा

पिछले दो सालों में हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट के मामले गंभीर रूप से बढ़ रहे हैं। यहां तक कि 18-20 साल के युवाओं में भी यह समस्या उत्पन्न हो रही है, जो पहले सिर्फ 50 साल के बाद होती थी। यह एक चिंता का विषय है जिस पर हमें सबको गंभीरता से सोचना चाहिए।

जिम और फिटनेस के बावजूद हार्ट अटैक: वजहें और उपाय

जिम जाने वाले युवा अपनी फिटनेस का ख्याल रखते हैं, लेकिन फिर भी हार्ट अटैक का सामना कर रहे हैं। डॉ. (कर्नल) मनजिंदर संधू, मैक्स हॉस्पिटल के कार्डियॉलजी विभाग के डायरेक्टर, बताते हैं कि यह मुख्यत: लाइफस्टाइल के कारण हो रहा है। युवा अक्सर लंबे काम के घंटों में एक्सरसाइज नहीं कर पा रहे हैं और फास्ट फूड, स्ट्रेस, और स्मोकिंग की वजह से इससे प्रभावित हो रहे हैं। इसके लिए यह जरूरी है कि हम अपने लाइफस्टाइल में सुधार करें और स्वस्थ रहने के लिए आवश्यक बदलाव करें।

फिजिकल एक्टिविटी की कमी और हार्ट अटैक

पीएसआरआई हॉस्पिटल के कार्डियॉलजिस्ट डॉक्टर रवि प्रकाश के अनुसार, पिछले 5-10 सालों में फिजिकल एक्टिविटी में कमी हो रही है, जिससे हार्ट अटैक के मामले बढ़ रहे हैं। लोग अब गाड़ी के बजाय छोटी दूरियों को बस में या अन्य साधनों पर कदम से कम करने का चयन कर रहे हैं, जिससे उनकी फिजिकल एक्टिविटी कम हो रही है। इससे हार्ट की सेहत पर बुरा असर पड़ रहा है।

लाइफस्टाइल का महत्व: हार्ट अटैक से बचने के लिए

डॉ. गौतम सिंह, श्रीराम सिंह हॉस्पिटल एंड हार्ट इंस्टिट्यूट के कंसल्टेंट कार्डियॉलजिस्ट, कहते हैं कि हमें बस एक्सरसाइज ही नहीं बल्कि नींद, स्ट्रेस, बीपी, और शुगर जैसी चीजों पर भी ध्यान देना चाहिए। उनका कहना है कि एक्सरसाइज के अलावा भी हमें सही डाइट, नींद, और मेडिटेशन-योग को अपने रूटीन में शामिल करना चाहिए। साथ ही, स्ट्रेस और स्मोकिंग-एल्कोहल को रूटीन से बाहर करना भी जरूरी है।

डाइट का महत्व: दिल की सेहत के लिए सही आहार

डॉक्टर रवि प्रकाश के अनुसार, दिल की सेहत के लिए सही आहार का अहम योगदान होता है। उनका सुझाव है कि डाइट में प्रोटीन को बढ़ावा दें और कार्बोहाइड्रेट को कम करें। प्रोटीन से भरपूर आहार में दाल-सोयाबीन जैसी चीजें शामिल की जा सकती हैं, जबकि फलों को भी डाइट में शामिल किया जा सकता है। साथ ही, नमक, चीनी, चावल, मैदा, जैसी चीजों को कम करना भी जरूरी है।

श्रेयस तलपड़े की सलाह: स्वस्थ जीवनशैली का पालन करें

अगर हमें श्रेयस तलपड़े की सलाह सुननी है, तो हमें उनके विचारों को गंभीरता से लेना चाहिए। उन्होंने कहा है कि वह कभी भी हॉस्पिटल में एडमिट नहीं हुए हैं और यह भी फ्रेक्चर के लिए नहीं। उनकी सलाह है कि स्वस्थ जीवनशैली का पालन करना जरूरी है, समय-समय पर डॉक्टर्स की विजिट करना चाहिए, और स्मोकिंग और शराब को दूर रखना चाहिए।

दिल की सेहत के लिए मिथक: सही जानकारी

बहुत से लोगों में यह गलत धारणा है कि सभी लोगों के लिए हार्ट अटैक के लक्षण एक जैसे होते हैं, या फिर सिर्फ एक्सरसाइज से ही दिल की सेहत ठीक रह सकती है।

One thought on “Acidityबनना है Heart Attack का पहला लक्षण, इन वजहों से रहें दूर, तुरंत मानें डॉ. की ये बातें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *